~ Be Better ~

हिम्मत और प्रयास से मिलती है सफलता

एक बार नेपोलियन अपनी सेना के साथ एल्पस पर्वत की चढ़ाई के लिए निकला। पर्वत की ऊंचाई और कठिन रास्ते को देखकर सैनिकों में उदासी छा गयी और वे निराश होकर एक-दूसरे को देखने लगे। फिर भी नेपोलियन के आदेश की वजह से सैनिकों ने नेपोलियन के साथ पर्वत पर चढ़ना शुरु कर दिया। इस दौरान एक बुढ़िया माई उन्हें रोकते हुए बोली “ इस पर्वत पर चढ़कर क्यों मरना चाहते हो? आज तक इस पर कोई नहीं चढ़ पाया है, जिन्होंने भी कोशिश की वे सब मारे गए। तुम्हें अपनी ज़िन्दगी से प्यार है तो लौट जाओ।”

alt

 नेपोलियन ने उसकी बात सुनकर अपने गले से हीरों का हार उतारकर बुढ़िया के गले में डाल दिया और बोले “ माँ तुमने तो मेरा और मेरे सैनिकों का आत्मविश्वास दोगुना कर दिया। जिन लक्ष्यों को प्राप्त करने में आज तक कोई सफल ना हो सका, उन्हें सम्भव करने की वजह से ही लोग मुझे नेपोलियन बोनापार्ट के नाम से जानते हैं।” महिला को नेपोलियन से ऐसे शब्दों की उम्मीद नहीं थी। वह बोली “तुम पहले आदमी हो जो मेरी बात सुनकर उससे हतोत्साहित होने के बजाय प्रेरित हुए हो, मुझे विश्वास है की तुम अब निश्चित रूप से इस पर्वत पर विजय प्राप्त कर लोगे।” इसके बाद कई दिन तक नेपोलियन और उसके सैनिकों ने पर्वत पर चढ़ाई जारी रखी। सफर में खाने की कमी, खराब मौसम आदि सब परेशानियों के बावजूद वो सफर करते रहे और कुछ ही समय में नेपोलियन और उनके सैनिक उस पर्वत पर चढ़ने में सफल होने वाले पहले इंसान बन गए।